mppsc syllabus and Job opportunities

क्या आप MPPSC परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे है और इसके बारे में सारी जानकारी लेना चाहते है? MPPSC में नौकरी से समबन्धित जानकारी लेने से पहले यह जान लेते हैं कि MPPSC क्याहै। MPPSC अथवा मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग एक भर्ती संथा (Recruitment Organization) है जो मध्य प्रदेश में विभिन्न सरकारी पदों के लिए लोगों की भर्ती करती है। इसका गठन 1 नवंबर 1956 के दिन राष्ट्रपति के States Reorganization Act के अंतर्गत किया गया था। मध्य प्रदेश राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाले विभिन्न विभागों में अनेक पदों पर नियुक्ति के लिए यह MPPSC भिन्न-भिन्न परीक्षाएं कराती है। जो उम्मीदवार अपनी योग्यता सिद्ध कर के इन परीक्षाओं को उत्तीर्ण करते हैं, उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। और जो उम्मीदवार साक्षात्कार में अपनी प्रतिभा दिखाते हैं, उन्हें सम्बंधित पदों पर नियुक्त किया जाता है। पदों पर नियुक्ति से पहले सभी उम्मीदवारों को प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि वे अपना दायित्वा समझे और उसका निर्वाहन कर सकें।

आइये अब जानते हैं की MPPSC के अंतर्गत कोन से विभाग आते हैं, यह किन पदों के लिए नियुक्ति करता है तथा इसकी परीक्षाओं का पाठ्यक्रम (Syllabus) क्या है?

सरकारीविभागएवंविभिन्न Jobs केअवसर:

MPPSC मुख्यतः 4 सेवा विभागों के लिए परीक्षाएं आयोजित करती है। ये 4 सेवा विभाग परीक्षाएं हैं:

  1. राज्य सेवा परीक्षा (State Service Exam)
  2. राज्य वन सेवा परीक्षा (State Forest Exam)
  3. राज्य अभियांत्रिकी सेवा परीक्षा (State Engineering Exam)
  4. ग्रंथपाल एवं क्रीड़ा अधिकारी परीक्षा (Librarian & Sports Officer Exam)

उपरोक्त परीक्षाओं के अतिरिक्त शिक्षण संस्थाओं में विभिन्न विषयों के लिए Assistant Professors एवं Assistant Registrar की परीक्षाएं भी आयोजित की जाती हैं। इनका पाठ्यक्रम भी अन्य परीक्षाओं से भिन्न होता है।

राज्यसेवापरीक्षा:

यह परीक्षा मध्य प्रदेश सरकार के अंतर्गत आने वाले सरकारी विभागों एवं संस्थाओं में नियुक्ति के लिए आयोजित की जाती है। जैसे पुलिस विभाग, आयकर विभाग, एवं अन्य सरकारी कार्यालय। यह परीक्षा दो भागों में आयोजित होती है: प्रारम्भिक परीक्षा एवं मुख्य परीक्षा। प्रारंभिक परीक्षा में अयोग्य उम्मीदवारों को छांटकर अलग कर दिया जाता है फिर मुख्य परीक्षा में जो उत्तीर्ण होते हैं उनके लिए साक्षात्कार (interview) आयोजित किया जाता है। इस परीक्षा के अंतर्गत आने वाले विभिन्न पदों के नाम निचे दिए गए हैं:

  1. Deputy District Megistrate
  2. District Excise Officer
  3. Deputy Superintendent of Police
  4. Superintendent District Jail
  5. Naib Tehsildaar
  6. Inspector
  7. Assistant Development Commisssioner
  8. Transport Sub Inspector
  9. Commercial Tax Officer
  10. Cooperative Inspector
  11. Assistant Jail Inspector
  12. Development Clerk Officer
  13. Commercial Tax Inspector
  14. Excise Sub Inspector
  15. Assistant Director Training

राज्यसेवापरीक्षाकापाठ्यक्रम:

राज्य सेवा परीक्षा तीन चरणों में सम्पूर्ण होती है: प्रारम्भिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, एवं साक्षात्कार। प्रारम्भिक परीक्षा वस्तुनिष्ट प्रकार (objective type) की होती है तथा मुख्य परीक्षा लिखित वर्णात्मक (written descriptive) होती है।

प्रारम्भिक परीक्षा में 2 प्रश्न पत्र होंगे और दोनों को हल करने का समय दो-दो घंटे है। पहला प्रश्न पत्र सामन्य अध्ययन से तथा दूसरा प्रश्न पत्र सामन्य अभिरुचि से सम्बंधित होगा।

  • सामान्यअध्ययनकेभाग: सामन्य विज्ञान एवं पर्यावरण, भारत का इतिहास एवं स्वतंत्र भारत, भारत एवं विश्व का भूगोल, खेलकूद, वर्तमान घटनाएं, मध्यप्रदेश का इतिहास, भूगोल, एवं संस्कृति, सुचना एवं संचार प्रौद्योगिकी, मध्यप्रदेश एवं भारत की राजनीति एवं अर्थव्यवस्था, मानव अधिकार संरक्षण नियम।
  • सामान्यअभिरुचिकेभाग: बोधगम्यता, संचार कौशल, तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता, सामान्य मानसिकता योग्यता, निर्णल लेना एवं समस्या समाधान, आधारभूत संख्यनन, एवं आंकड़ों का निर्वचन।

मुख्य परीक्षा में 6 प्रश्न पत्र होंगे और यह परीक्षा 2 से 3 दिन तक चल सकती है। प्रथम चार प्रश्न पत्र सामन्य ज्ञान (इतिहास, भूगोल, राजनीति, कृषि, संविधान आदि) पर आधारित होंगे। पांचवां प्रश्न पत्र सामान्य हिंदी और व्याकरण पर आधारित होगा। छठवां प्रश्न पत्र हिंदी निबंध लेखन का होगा।

राज्यवनसेवापरीक्षा:

यह परीक्षा मध्य प्रदेश के वन विभाग के अंतर्गत पदों पर नियुक्ति आयोजित की जाती है। यह परीक्षा भी दो भागों में conduct की जाती है: प्रारम्भिक परीक्षा एवं मुख्य परीक्षा। इस परीक्षा के अंतर्गत मुख्यतः दो ही पद आते हैं:

  • Assistant Forest Conservator
  • Forest Ranger

राज्यवनसेवापरीक्षाकापाठ्यक्रम:

राज्य वन सेवा की प्रारंभिक परीक्षा का पाठ्यक्रम एवं संरचना राज्य सेवा की प्रारंभिक परीक्षा के बिलकुल समान है।

इसकी मुख्य परीक्षा में दो प्रश्न पत्र होते हैं तथा एक साक्षातकार होता है। यह दोनों प्रश्न पत्र 200 अंक के होते हैं। इनका पाठ्यक्रम निचे दिया गया है:

मुख्यपरीक्षा: यह लिखित परीक्षा है। इसमें निम्न विषयों पर प्रश्न पूछे जाएंगे- सामन्य अध्ययन, मध्यप्रदेश का सामन्य परिचय, सामन्य हिंदी, सामन्य अंग्रेजी, तथा प्रारम्भिक गणित। दुसरे प्रश्न पत्र में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, तथा पर्यावर्ण पर प्रश्न पूछे जाएंगे।

राज्यअभियांत्रिकीसेवापरीक्षा

यह परीक्षा लोक निर्माण विभाग तथा लोक स्वास्थय विभाग में सहायक अभियंता के पद पर नियुक्ति के लिए आयोजित की जाती है। यह परीक्षा केवल मैकेनिकल एवं सिविल इंजीनियरिंग के उम्मीदवारों के लिए होती है। यह परीक्षा भी प्ररम्भिक एवं मुख्य परिक्षण में विभाजित है।

राज्यअभियांत्रिकीसेवापरीक्षाकापाठ्यक्रम:

  • प्रारम्भिकपरीक्षा: यह objective टाइप परीक्षा 500 अंकों की होती है और इसमें दो प्रश्न पत्र होते हैं। पहला प्रश्न पत्र सामन्य अभियोग्यता (सामन्य अंग्रेजी, सामन्य हिंदी, एवं सामन्य ज्ञान) पर आधारित होता है। दूसरा प्रश्न पत्र संबंधित अभियांत्रिकी विषय (मैकेनिकल अथवा सिविल) के आधार पर होता है।
  • मुख्यपरीक्षा: यह लिखित परीक्षा सम्बंधित अभियांत्रिकी विषय के आधार पर होती है। इसमें मैकेनिकल अथवा सिविल अभियांत्रिकी से सम्बंधित विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं।

ग्रंथपालपरीक्षा:

यह परीक्षा सरकारी पुस्तकालयों एवं शिक्षण संस्थान के पुस्तकालयों में ग्रंथपाल के पद पर नियुक्ति के लिए आयोजित की जाती है। यह एक लिखित परीक्षा होती है जिसका पाठ्यक्रम निचे दिया गया है:

ग्रंथपालपरीक्षाकापाठ्यक्रम

  • पुस्तकालय, सुचना, एवं समाज
  • ज्ञान संगठन और प्रसंस्करण
  • पुस्तकालय और सूचना केंद्र का प्रबंधन
  • सूचना सेवाएँ, स्रोत, सिस्टम और रिटेल
  • सूचना प्रौद्योगिकी, स्वचालन और नेटवर्किंग
  • नेटवर्क और सॉफ़्टवेयर
  • डिजिटल सूचना प्रबंधन
  • डिजिटल पुस्तकालय
  • अनुसंधान क्रियाविधि
  • प्रस्तुति डेटा और बिब्लिओमेट्रिक्स

क्रीड़ाअधिकारीपरीक्षा:

यह भी एक लिखित परीक्षा है और यह विभिन्न सरकारी खेल संथाओं में क्रीड़ा अधिकारी के पदों पर नियुक्ति के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा का पाठ्यक्रम नीचे दिया गया है:

  • खेल सांख्यिकी और शारीरिक शिक्षा में कंप्यूटर का उपयोग
  • खेल प्रशिक्षण के वैज्ञानिक सिद्धांत
  • शारीरिक शिक्षा में परीक्षण मापन और मूल्यांकन
  • खेल मनोविज्ञान
  • व्यायाम करें
  • काइन्सियोलॉजी और स्पोर्ट्स बायोमैकेनिक्स
  • स्वास्थ्य शिक्षा और खेल चिकित्सा
  • फिजिकल एजुकेशन में फाउंडेशन और तरीके
  • खेल और खेल और योग व्यायाम

इन मुख्य पदों के अतिरिक्त MPPSC अन्य पदों पर नियुक्ति के लिए सुचना देती रहती है।

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *